Wednesday , July 24 2019
Home / National / पहले खूंखार तरीके से टकराता था, अब हो चुका है मरियल, मुश्किल से काबू कर पाएगा अपनी सांस

पहले खूंखार तरीके से टकराता था, अब हो चुका है मरियल, मुश्किल से काबू कर पाएगा अपनी सांस

मौसम पूर्वानुमान बताने वाली कंपनी स्काईमेट ने मंगलवार को कहा कि इस बार मानसून के तीन दिन की देरी से चार जून को केरल पहुँचेगा। आम तौर पर यह एक जून को केरल के तट से टकराता है।

स्काईमेट के प्रबंध निदेशक जतिन सिंह ने बताया कि इस बार मानसून चार जून को केरल में दस्तक दे सकता है हालाँकि इसमें दो दिन आगे-पीछे होने की गुंजाइश है। उन्होंने बताया कि इस साल स्थिति बहुत अच्छी नहीं है और मानसून कमजोर रह सकता है।

स्काईमेट में मौसम पूर्वानुमान और जलवायु परिवर्तन विभाग के अध्यक्ष सेवानिवृत्त एयर वाइस मार्शल जी.पी. शर्मा ने कहा कि इस बार मानूसन का भँवर अरब सागर में रहेगा जो अच्छा संकेत नहीं है। इस कारण मानसून उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर ज्यादा बढ़ेगा और समय के साथ देश के मुख्य मैदानी हिस्से से दूर होता चला जायेगा।

उन्होंने बताया कि स्काईमेट मानसून के बारे में अपने पुराने पूर्वानुमान पर कायम है कि इस साल बारिश दीर्घावधि औसत का 93 प्रतिशत होगी। मध्य भारत में सबसे कम 91 प्रतिशत, पूर्व तथा पूर्वोत्तर में 92 प्रतिशत, दक्षिण में 95 प्रतिशत और पश्चिमोत्तर में 96 प्रतिशत बारिश का अनुमान है।

About admin

Check Also

खेतों को मकान बताकर ढाई सौ करोड़ गटक गए अधिकारी

छत्तीसगढ़ के जगदलपुर-रावघाट रेल परियोजना के तहत जगदलपुर के पास बनने वाले क्रांसिंग स्टेशन के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *